Train Ticket can be purchased inside train using the Hand Held terminals used by TT

Ayupp
Image used for representational purpose only

Below message is being circulated online in social media. Refer to our analysis section for detailed analysis about this fake message. 

Viral Message Sample 1:

पटना। यात्रियों के लिए रेलवे नई सौगात लेकर आया है। अब सुपरफास्ट ट्रेनों में टीटीईको टिकट मशीन (हैंड-हेल्ड) मुहैया कराई गई, जिससे यात्रियों को ट्रेन में भी टिकट मिल जाएगा। फिलहाल सुपरफास्ट ट्रेनों में यह व्यवस्था लागू कर दी गई है। जल्द ही बाकी ट्रेनों में विस्तार होगा। प्रथम चरण में लखनऊ मेल, गरीब रथ, अर्चना सुपरफास्ट, राजधानी सुपरफास्ट आदि के टीटीई को हैंड-हेल्ड मशीन दी गई है। मशीन रेलवे के पैसेंजर रिजर्वेशन सिस्टम (पीआरएस) सर्वर से कनेक्ट रहेगी। इससे ट्रेन के हर कोच में खाली बर्थ और किस स्टेशन पर मुसाफिर उतरेगा, इसकी जानकारी मिलती रहेगी। बिना टिकटलिए ट्रेन में चढ़ने वाले यात्री सीधे टीटीई से मिलेंगे। तय किराये से दस रुपये अतिरिक्त लेकर टीटीई इसी मशीन से टिकट देंगे। इसके अलावा मशीन के जरिए ही वेटिंग टिकटवाले मुसाफिरों को खाली होते ही बर्थ मिल जाएगी। टीटीई और स्क्वायड के सिपाही मनमाना जुर्माना एवं रुपयों की वसूली करते थे ट्रेन छूटने की जल्दी में सवार होने वाले मुसाफिरों से टीटीई और स्क्वायड के सिपाही मनमाना जुर्माना एवं रुपयों की वसूली करते हैं। इसके साथ ही वेटिंग टिकट वाले यात्रियों को बर्थ न होने की बात कहकर बर्थ नहीं देते थे। मगर हैंड-हेल्ड मशीन से यात्री भी अपनी बर्थ की पोजीशन देख सकेंगे। ट्रेन में चढ़ते हीटीटीई से टिकेट लेना होगा यात्री को ट्रेन में सवार होते ही टीटीई को बताना होगा कि उसने टिकट नहीं लिया है। मशीन से टिकट बनवाना है।चेकिंग के दौरान यदि टीटीई ने बिना टिकट पकड़ा तो जुर्माना पड़ेगा। इसीलिए टीटीई को हैंड-हेल्ड मशीन दी जा रही हैं।सुपरफास्ट ट्रेनों में यात्री सवार होने के बाद भीटीटीई से टिकट ले सकेंगे। - नीरज शर्मा, मुख्य जनसंपर्क अधिकारी, उत्तर रेलवे।

Viral Message sample 2:

रेल यात्रियों के लिए विशेष सुविधा....
**************
यात्रियों टिकट खिड़की पर लंबा इंतजार नहीं करना होगा। अब ट्रेन का टिकट ट्रेन में ही मिल जाएगा।
फिलहाल सुपरफास्ट ट्रेनों में यह व्यवस्था लागू कर दी गई है। जल्द ही बाकी ट्रेनों में भी यही व्यवस्था होगी। इसके लिए टीटीई को टिकट शीन (हैंड-हेल्ड) मिलनी शुरू हो चुकीं हैं।
रेलवे ने प्रथम चरण में सुपरफास्ट ट्रेन : लखनऊ मेल, गरीब रथ, अर्चना सुपरफास्ट, राजधानी सुपरफास्ट आदि के टीटीई को हैंड-हेल्ड मशीन दी है।
मशीन रेलवे के पैसेंजर रिजर्वेशन सिस्टम (पीआरएस) सर्वर से कनेक्ट रहेगी। इससे ट्रेन के हर कोच में खाली बर्थ और किस स्टेशन पर मुसाफिर उतरेगा इसकी जानकारी मिलती रहेगी।
बिना टिकट लिए ट्रेन में चढ़ने वाले यात्री सीधे टीटीई से मिलेंगे। तय किराये से दस रुपये अतिरिक्त लेकर टीटीई इसी मशीन से टिकट देंगे। इसके अलावा मशीन के जरिये ही वेटिंग टिकट वाले मुसाफिरों को बर्थ खाली होते ही मिल जाएगी।
टीटीई की मनमानी होगी खत्म ।ट्रेन छूटने की जल्दी में सवार होने वाले मुसाफिरों से टीटीई और स्क्वायड के सिपाही मनमाना जुर्माना एवं रुपयों की वसूली करते हैं।
इसके साथ ही वेटिंग टिकट वाले यात्रियों को बर्थ न होने की बात कहकर बर्थ नहीं देते थे। मगर हैंड-हेल्ड मशीन से यात्री भी अपनी बर्थ की पोजीशन देख सकेंगे।
ट्रेन में चढ़ते ही टीटीई को बताना होगा : यात्री को ट्रेन में सवार होते ही टीटीई को बताना होगा कि उसने टिकट नहीं लिया है। मशीन से टिकट बनवाना है।
चेकिंग के दौरान यदि टीटीई ने बिना टिकट पकड़ा तो जुर्माना चुकाना पड़ेगा। इसीलिए टीटीई को हैंड-हेल्ड मशीन दी जा रही हैं। सुपरफास्ट ट्रेनों में यात्री सवार होने के बाद भी टीटीई से टिकट ले सकेंगे।
साभार : नीरज शर्मा,
मुख्य जनसंपर्क अधिकारी, उत्तर रेलवे।

Viral message Sample 3:

*रेल यात्रियों के लिए*
*New Facilities*
*in*
*Railway*
*By Modi Govt*
🚅🚃🚃🚃🚃🚃🚃
*यात्रियों टिकट विंडो पर लंबा इंतजार नहीं करना होगा।*

*ट्रेन का टिकट*
*ट्रेन में ही मिल जाएगा।*

*फिलहाल सुपरफास्ट ट्रेनों में यह व्यवस्था लागू कर दी गई है*

*जल्द ही बाकी ट्रेनों में भी यही व्यवस्था होगी।*

*इसके लिए टीटीई को टिकट शीन (हैंड-हेल्ड) मिलनी शुरू हो चुकीं हैं।*

💥*रेलवे ने प्रथम चरण में सुपर फास्ट ट्रेन*

*लखनऊ मेल,*

*गरीब रथ,*

*अर्चना सुपरफास्ट,*

*राजधानी सुपरफास्ट आदि के टीटीई को हैंड-हेल्ड मशीन दी है*

*मशीन रेलवे के पैसेंजर रिजर्वेशन सिस्टम (पीआरएस) सर्वर से कनेक्ट रहेगी।*

*इससे ट्रेन के हर कोच में खाली बर्थ और किस स्टेशन पर यात्री उतरेगा इसकी जानकारी मिलती रहेगी।*

*बिना टिकट लिए ट्रेन में चढ़ने वाले यात्री सीधे टीटीई सेमिलेंगे*

*तय किराये से दस रुपये अतिरिक्त लेकर टीटीई इसी मशीन से टिकट देंगे।*

*इसके अलावा मशीन के जरिये ही वेटिंग टिकट वाले मुसाफिरों को बर्थ खाली होते ही मिल जाएगी*

👉*टीटीई की मनमानी होगी खत्म*

*ट्रेन छूटने की जल्दी में सवार होने वाले मुसाफ़िरों से टीटीई और स्कवायड़ के सिपाही मनमाना जुर्माना एवं रुपयों की वसूली करते हैं!*

*इसके साथ ही वेटिंग टिकट वाले यात्रियों को बर्थ न होने की बात कहकर बर्थ नहीं देते थे।*

*मगर हैंड-हेल्ड मशीन से यात्री भी अपनी बर्थ की पोजीशन देख सकेंगे।*

👉*ट्रेन में चढ़ते ही*
*टीटीई को बताना होगा*

*यात्री को*
*ट्रेन में सवार होते ही टीटीई को बताना होगा कि उसने टिकट नहीं लिया है।*

*मशीन से टिकट बनवाना है।*

*चेकिंग के दौरान यदि टीटीई ने बिना टिकट पकड़ा तो जुर्माना देना पड़ेगा*

*इसीलिए टीटीई को हैंड-हेल्ड मशीन दी जा रही हैं*

*सुपरफास्ट ट्रेनों में यात्री*
*सवार होने के बाद भी*
*टीटीई से टिकट ले सकेंगे।*

*नीरज शर्मा,*
*मुख्य जनसंपर्क अधिकारी,*
*उत्तर रेलवे।*

*Please*
*share this message*
*to all your friends*
*to get relax*
*for railway...*

*यह मैसेज जितना हो सके उतना दूसरे ग्रुप मेँ फॉरवर्ड करेँ* 👍
🚅🚃🚃🚃🚃🚃🚃

Our Analysis – The above news informs Indian railway travellers that they need to worry if they do not have train tickets with them while travelling in train. They can purchase tickets directly from the Travelling Ticket Examiner (TT). It is fake news as this is almost impractical to implement such kind of technology.

Reasons –

  1. It would be impossible for TT to determine who is travelling without ticket.
  2. Indian railway is always having status regret booking. So, if someone has already boarded train and comes to know that no seats are available, then it would become almost impossible to handle such people. It might lead to quarrel and chaos in the train travel.
  3. Hand held Terminals is real thing and is launched for Shatabdi travellers, so that TT can tell the real time status of waiting and RAC passenger’s. It is not used for ticket booking.

        http://indiatoday.intoday.in/story/hand-held-terminals-for-ttes-in-shatabdi-trains-launched/1/592763.html

  1. Recently railway has launched one new feature that train tickets can be booked half an hour prior to train departure online.

Conclusion – Passenger can book tickets of other train using IRCTC app online. Indian Railways have never made any announcement as such that travellers can get ticket after boarding the train. Don’t get yourself trapped in the case of giving huge fine by following this fake news.  



You may also like to read our latest analysed news:
- Did Britney Spears prayed God asking forgiveness, Illuminati
- Women died after inhaling perfume, Glen Eagles Hospital
- Fake Paytm Mega Cash Reward offer, win 1000 paytm cash free spam
- Did a beggar became Lakhpati due to torn mattress?
Ayupp