Ayupp
image source social media
Google Ads

Old video widely shared, Pakistan trying to create a fake news war on India

Brief Outline: Pakistan social media users share an old video from Haryana, India as brutality on Kashmir’s.

Facts Check: True but old video

Viral News on Social media:

ویڈیو پر کلک کر کے شیئر کریں

کشمیر کی تازہ ترین ویڈیو اتنا شیئر کریں کہ مقتدر قوتوں کو شرم اجائے مظلوم کشمیر کی اواز بنے

Share the video by clicking it, its the latest video of Kashmir, share it as much so that the powerful authorities and nation get ashamed, and they become the spokesperson of Kashmir.

Google Advertisement:

Facts Check Analysis: A video widely shared on social media, it has been viewed by more than 39 lakh times on social media platform Facebook.

The Pakistan media is desperate to show brutality against the Kashmiri Indian people. In the latest of the fake war by the Pakistani social media users, they have used women as the center of attraction against the brutality. In the video, as can be seen, women, protestors are dragged by the police.

The video is not from Kashmir, but yes it is acting only as fake and rumor.

This is an old video from Haryana, India where the teachers were protesting outside the CM’s office. If you watch at -18.46 Seconds, you can see Haryana written on the bus.

 

If you search on Google you will find lots of information on the teachers protest in Haryana. This protest was done of JBT teachers against the Haryana government in 2017.

See the below post, posted 2 years back with headline, “Live - देखें - JBT Teacher's Police & Tension In CM City ,देखें लाईव - सी एम कैम्प ऑफिस के बाहर धरने पर बैठी JBT महिला टीचर्स को घसीट घसीट कर महिला पुलिस कर्मचारी बसों में बिठाते हुए - सुबह से अपनी मांगों को लेकर बड़ी संख्या में JBT टीचर्स बैठे थे धरने पर ,प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर की JBT टीचर्स ने नारेबाजी !

सी एम सिटी करनाल में जे बी टी टीचरों ने अपनी नोकरी बचाने के लिए किया धरना प्रदर्शन ,मुख्य मंत्री कैम्प कार्यलय का किया घेराव ,पुलिस को दी गिरफ्तारियां पुलिस ने जेबीटी टीचरों को किया जबरदस्ती गिरफ्तार ,खट्टर सरकार के खिलाफ भी जमकर की नारेबाजी ,देखें लाईव वीडियो - शिक्षा विभाग द्वारा कल संयुक्त मेरिट सूचि से बाहर हुए नव नियुक्त जे बी टी टीचरों को सोमवार से हटाने के मोखिक आदेश जारी होते ही जेबीटी टीचरों में आक्रोश फ़ैल गया है ,राजकीय जेबीटी संघर्ष समिति के बेनर तले आज प्रदेश भर से पहुँचे सैंकड़ो टीचरों ने सी एम सिटी में मुख्य मंत्री कैम्प कार्यलय के बाहर अपनी नोकरी बचाने के लिए धरना प्रदर्शन किया ,पुलिस द्वारा सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गए थे ताकि टीचर कोई भी कानून हाथ में ले सके ,वही पुलिस प्रशाशन द्वारा टीचरों को कई बार कहाँ गया की यहाँ धरना आप नहीं दे सकते लेकिन टीचर्स वही धरने पर अड़े रहे तो पुलिस ने उनकी गिरफ्तारी के लिए बसों का इंतजाम किया इसी दौरान महिला टीचर सडकों पर लेट गई पुलिस ने टीचरों को जबरदस्ती बसों में डालना शुरू कर दिया ,सैंकड़ो टीचरों ने पुलिस प्रशासन व् सरकार के खिलाफ भी जम कर नारेबाजी की और मुख्यमंत्री से उनको उनकी नोकरी से बाहर निकालने की गुहार लगाई !

As per tribuneindia news dated June, 2017. 1,225 JBT teachers set to lose jobs, the article says, “The Haryana Government has issued a revised combined merit list of JBT and primary teachers following the directions of the Punjab and Haryana High Court. With the revised list, nearly 1,225 Junior Basic Training (JBT) teachers and Primary teachers (PRTs), who were issued appointment letters, are set to lose their jobs.”.

Hence the video is more than 2 years old and from Haryana.